सफरनामा

17 जून, 2008

उनकी फोटो

सही समय पर सही जगह सेट न कर पाने की तकनीक न आने के कारण एसपी का भुटन्नी भर फोटो दाहिने लग गया है। मैग्नीफाइंग लेन्स से देखेंगे तो पाएंगे कि हाल में सचिन तेंदुलकर को सुल्तापुर घुमाने वाले कांग्रेसी एमपी, राजीव शुक्ला के गुरू और फरूर्खाबाद से एमपी रहे पूप्रमं वीपी सिंह के चेले पत्रकार भी दिखाई दे रहे हैं।

5 टिप्‍पणियां:

  1. anil yar tum aadmi ho ki ghanchchkar. blog ka nam harmonium rakha hai aour photo lagaya hai sarod ka. khair prayas achcha hai. lage raho.
    shashi bhooshan dwivedi

    उत्तर देंहटाएं
  2. sarod ho ya harmonium bas bhai anil bajatr raho.

    Baba manoj tiwari

    उत्तर देंहटाएं
  3. Sarod ho ya harmonium Anil Bhai bajate rahiye.

    Manoj tiwari

    उत्तर देंहटाएं